Nike Success Story In Hindi | Phil Knight And Bill Bowerman Biography

0

Nike Success Story In Hindi :-

Nike Success Story In Hindi | Phil Knight And Bill Bowerman Biography | Facts | Motivational Video

Nike Success Story In Hindi

दोस्तों आज हम जानेंगे दुनियाभर में फुटवियर की सबसे पसंदीदा ब्रांडस में से एक नाइकी की, जो अमेरिका की एक मल्टीनेशनल कंपनी है, और एथलेटिक्स शूज बनाने वाली यह दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है |

इसके अलावा यह स्पोर्ट्स के ही कुछ और भी सामान बनाती है, जैसे की – टी शर्ट, जैकेट, ग्लब्स, हैट और ग्लासेज जैसी बहुत सारी चीजें | यही वजह है कि नाइकी स्पोर्ट्स बिजनेस का मोस्ट वैल्युएबल ब्रांड है |

दोस्तों शायद बहुत कम ही लोगों को पता होगा कि नाइकी कम्पनी की शुरुआत “ब्लू रिबन स्पोर्ट्स” नाम के साथ हुई थी, और इसके जूते को सबसे पहले कार की डिग्गी से बेचना शुरू किया गया था |

तो चलिए दोस्तों नाइकी के इस दिलचस्प कहानी को हम शुरू से जानते हैं |


दोस्तों इस बिजनेस की शुरुआत होती है 1962 से, जब स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमबीए कर रहे फिल नाईट ने इस बिजनस के बारे में सोचा |

दरअसल फील जब MBA कर ही रहे थे तो उन्हें स्माल बिजनेस और मार्केटिंग प्लान के बारे में लिखने का असाइनमेंट दिया गया |

फिल को स्पोर्ट्स और रनिंग काफी पसंद थी और इसीलिए उन्होंने जूतों के बिजनेस के बारे में लिखा | और यही असाइनमेंट करते समय उनके दिमाग में सस्ता मजबूत और बेहतर क्वालिटी के जूते बनाने का आईडिया आया |

इस आईडिया को साकार करने के लिए पढ़ाई करने के बाद, वे जापान पहुंच गए जहां उन्होंने टाइगर के सस्ते और अच्छी क्वालिटी के जूते देखें, जिसे ओनित्सुका नाम की एक कंपनी बनाती थी |

फिल ओनित्सुका कंपनी के मालिक से मिले और यह बताकर टाइगर ब्रांड के जूते बेचने का राइट्स ले लिया कि वे “ब्लू रिबन स्पोर्ट्स” कंपनी के मालिक हैं |

दोस्तो ब्लू रिबन स्पोर्ट्स कंपनी दरअसल अभी तक फिल के केवल दिमाग में थी ना की असल में कोई कंपनी |

जब फिल को टाइगर शूज के सैंपल दिए गए तो उसको बेचने के लिए वे सबसे पहले “बिल बोरमन “के पास आये जो कि ग्रेजुएशन के दौरान उनके स्पोर्ट्स कोच रह चुके थे |

बिल बोरमन ने उस सैम्पल जूते को बहुत पसंद किया और साथ ही फिल का बिजनस मॉडल भी उन्हें लुभा गया और वे फिल नाईट के बिजनेस पार्टनर बन गए |

आगे चलकर फिल और बोरमन ने मिलकर 1000 डालर की कैपिटल से 25 जनवरी 1964 को “ब्लू रिबन स्पोर्ट्स” नाम की एक फुटवियर कंपनी बनाई | और फिर सबसे पहले उन्होंने जापान की जूते बनाने वाली कंपनी ओनित्सुका के टाइगर ब्रांड के 300 जोडे जूते मगवाये |

जिसे उन्होंने स्कूल के बाहर एक कार की डिग्गी से बेचना शुरू किया |

अपने पहले साल में उन्होंने कुल 1300 जोड़े जूते बेचे जिससे उन्होंने करीब 8000 डॉलर की कमाई करी, और यह कमाई अगले साल बढ़ कर 20000 डॉलर तक पहुंच गई |

और फिर 2 साल तक कार की डिक्की को काउंटर की तरह प्रयोग करने के बाद 1966 में BRS यानि “ब्लू रिबन स्पोर्ट्स ने अपना पहला स्टोर कैलिफोर्निया में खोला |

अगले ही साल जूतों की हाई डिमांड की चलते उन्होंने डिस्ट्रीब्यूशन के काम को और बढ़ाया और फिर मेसाचुसेट्स में अपना एक और स्टोर खोला |

आखिरकार 1971 तक ब्लू रिबन और टाइगर ब्रांड के बीच का कांट्रेक्ट खत्म हो गया और तब ब्लू रिबन स्पोर्ट्स ने अपने खुद के ब्रांड का फुटवियर बनाने का फैसला किया |

30 मई 1971 को कंपनी का नाम आधिकारिक तौर पर ब्लू रिबन स्पोर्ट्स से बदलकर नाइकी कर दिया गया जो कि यूनान की एक देवी के नाम के ऊपर रखा गया था |

और इसके लोगो (LOGO)को कैरोलिन नाम एक ग्राफ़िक डिजाइनर ने डिजाइन किया था और यह ट्रिक मार्क लोगो जल्द ही नाइकी की पहचान बन गयी |

1980 के आस पास नाइकी ने फुटवियर के अलावा भी क्लोथिंग और ट्रैकसूट जैसे कई आइटम अपने बिजनस में ऐड कर दिए, जो की अमेरिकन यूथ के लिए फैशन का दूसरा नाम बन गयी |

नाइकी के कलरफुल जूते और स्नीकर्स की वहां के टीनएजर्स के बीच खूब डिमांड हुई और यही वजह थी कि 1980 तक नाइकी के शूज ने शूज मार्केट के 50% हिस्से पर अपना कब्ज़ा जमा लिया था |

आगे चल कर 1984 में फेमस बास्केटबॉल प्लेयर माइकल जॉर्डन को इसके प्रमोशन के लिए साइन किया गया | और फिर आगे भी टाइगर वुड्स, रोजर फेडरर, राफेल नडाल, सेरेना विलियम्स, और रोनाल्डो जैसे बहुत से प्रसिद्ध प्लेयरस इस ब्रांड के पहचान बने |

इसके अलावा नाइकी 2005 से भारतीय क्रिकेट टीम का ऑफिसियल किट स्पोंसर भी है |

और 2015 तक इस कंपनी का रेवेन्यू बढ़कर 30 बिलियन डॉलर तक पहुंच चुका था, और फिल नाईट दुनिया भर में सबसे धनि लोगो की लिस्ट में 15वे नंबर पर है |

दोस्तों अंत में बस मै यही कहना चाहूँगा, अगर बदलाव लाना है तो आप भी एक छोटे से कदम से शुरुवात कर सकते है |
और एक बार अगर आपने पोसिटिव माइंड के साथ कोई भी काम शुरू कर दिया , तो सफलता आपके कदम जरुर चूमेगी |

Share.

Leave A Reply