Michael Dell Biography in Hindi | माइकल डेल

3

Michael Dell Biography in Hindi | माइकल डेल:-

Michael Dell Biography in Hindi

Michael Dell Biography in Hindi

दोस्तों आज मै बात करने जा रहा हूँ दुनिया के जाने माने कंप्यूटर कंपनी “डेल टेक्नोलोजीस” के फोउडर(founder) माइकल डेल की, जिन्होंने बचपन से ही अपने दिमाग को कुछ यूँ चलाया की सिर्फ 10 साल की उम्र से उन्होंने इन्वेस्टमेंट करना शुरू कर दिया और 12 साल की उम्र तक उन्होंने 2000 डालर की सेविंग कर ली और हद तो तब हो गयी जब 14 साल की उम्र तक उनकी इनकम उनके स्कुल टीचर से भी जयादा हो गयी |

तो चलिए दोस्तों माइकल डेल के इस इंट्रेस्टिंग लाइफ स्टोरी को हम शुरू से जानते है |

माइकल डेल का जन्म 23 फरवरी 1965 को अमेरिका के ह्यूस्टन में हुआ था। उनके पिता का नाम लेक्जेंडर डेल था जो  एक दाँतों के डाक्टर थे और उनकी मां का नाम नी लंगफान था जो  एक स्टॉक ब्रॉकर थी।

माइकल डेल ने अपनी शुरुवाती पढ़ाई ह्यूस्टन के ही हीरोड़ एलिमेंटरी स्कुल से की, और बचपन से ही वे अपनी माँ से इन्वेस्टमेंट और बिज़नस के गुण सीखते रहे |

जिसके बाद करीब 10 साल की उम्र से ही उन्होंने अपने पाकेट मनी को इन्वेस्ट करना शुरू कर दिया, यहाँ तक की इन्वेस्मेंट का उनको ऐसा भूत सवार था की उन्होंने और पैसे कमाने के लिए डांक टिकट बेचने शुरू कर दिए  |

अपने सिर्फ 12 साल की उम्र तक उन्होंने 2000 डोलोर की सेविंग कर ली थी |

और हां दोस्त, मै 1977-78 की बात कर रहा हु क्योंकी उस टाइम 2000 डोलोर भी एक बच्चे के लिए बहुत होते थे |

धीरे धीरे उनके पैसे बढते चले गए और फिर आगे उन्होंने शेयर्स और मेटल्स में इन्वेस्ट करना शुरू कर दिया | जिससे उन्हें पुरे साल में 18,000 डालर का प्रॉफिट हुआ | जो की उनके हिस्ट्री और इकोनोमिक के टीचर के एनुअल इनकम से कही ज्यादा था | इतनी छोटी सी उम्र से वे एक अच्छे इन्वेस्टर नजर आ रहे थे ; आगे चल कर धीरे धीरे कंप्यूटर का चल भी तेजी से बढ़ रहा था, और जब डेल करीब 15 साल के थे तभी उनके माता पिता ने उन्हें कंप्यूटर ला कर दिया |

माइकल डेल का कंप्यूटर के प्रति जबरजस्त लगाव हो गया , और वे अपना जयादातर समय कंप्यूटर पर ही बिताने लगे |

कुछ समय बाद माइकल के दिमाग में यह चलने लगा की “आखिर यह काम कैसे करता है?”। माइकल ने अपने कम्प्यूटर के सारे पुर्जे को अलग अलग कर दिए | और देखने लगे कि आखिर यह बना कैसे है ? उन्होंने इस बात को और अच्छे से समझने के लिए दूसरी कंपनी का एक और कंप्यूटर खरीद कर लाया, और फिर उसके भी पुर्जे को खोल कर अलग अलग कर दिए |

जल्दी ही माइकल डेल की दौड़-भाग रंग लाई, और उन्हें समझ आ गया कि कम्प्यूटर किन किन पार्ट्स से मिलकर बनता है | आगे चल कर उन्होंने बायोलाजी के पढ़ाई के लिए  University of Texas में एडमिशन ले लिया | अब आप सोच रहे होंगे की बायोलाजी में उन्होंने एडमिशन क्यों लिया , तो बता दूँ दोस्तों उनके माता पिता चाहते थे की वे एक अच्छे डॉक्टर बने | लेकिन इस पढ़ाई में उनका बिलकुल भी मन नहीं था |

Larry Page Biography in Hindi (लैरी पेज का बायोग्राफी)

उन्होंने अपने कालेज के दौरान कंप्यूटर के अलग अलग पार्ट्स को इकठा कर के लोगों के जरुरत के हिसाब से असेम्बल कर बेचने का काम शुरू कर दिया | अब लोगो को महंगे कमप्यूटर खरीदने की कोई आवश्यकता नहीं थी क्युकी उनके जरुरत के हिसाब से उन्हें कम्यूटर असेम्बल कर के मिल जा रहा था | और असेम्बल किया कंप्यूटर किसी एक कम्पनी के कंप्यूटर से काफी सस्ता था |

डेल का यह बिजनस भी तेजी से चल पड़ा और फिर उन्होंने अपनी कालेज की पढ़ाई छोड़ January 1984 में  PC’s Limited” नाम की एक कंपनी बनायीं  |

और फिर कुछ ही महीने बाद मई में उन्होंने अपने कंपनी का नाम बदलकर डेल कम्प्यूटर कॉर्पोरेशन(dell computer corporation) कर दिया | धीरे-धीरे कारोबार बढ़ता गया, क्योंकि माइकल डेल के काम करने का तरीका लोगों को बहुत पसंद था। और वे सर्विसेज भी बहुत अच्छी देते थे |

और जब माइकल डेल की उम्र केवल 27 साल थी तभी वे सबसे यंगेस्ट सीईओ (yongest CEO) बने , जिसकी कंपनी फोर्चून 500 में अपनी जगह बना ली |

बस यहाँ से डेल ने कभी भी पीछे मुड कर नहीं देखा , और आज के समय में उनकी कम्पनी दुनिया के सबसे बड़ी टेक्नोलॉजी इन्फ्रा-स्ट्रक्चर कम्पनियों में से एक है |

मौजूदा समय में माइकल डेल दुनिया के 37 वे सबसे धनि व्यक्ति है और अगर उनके पर्सनल लाइफ की बात करें तो 28 अक्टूबर 1989 को उन्होंने सुसान लाइबरमैन के साथ शादी की | और सुसान से उन्हें कुल चार बच्चे है |

दोस्तों अंत में बस मै बस मै यही कहना चाहूँगा की माइकल डेल को शुरू से बिज़नस और इन्वेस्टमेंट का शौख था, और अपने पैशन को फालो करते हुए वे आगे बड़े और सफल हुए, यहाँ तक की उन्होंने अपने माता पिता के कहने पर बायोलाजी में एडमिशन(admission) तो ले लिया, लेकिन सही समय पर उन्होंने कालेज ड्रॉपआउट(college dropout) फैसला भी किया |

और अपने इस फैसले से उन्होंने  फिर से यह प्रूव कर दिया अगर आप अपने पैशन(passion) को फालो करते हुए आगे बढ़ते है तो आप जरुर सफल होंगे |

Michael Dell Biography in Hindi (Video) | माइकल डेल:-

Share.

3 Comments

  1. Pingback: Larry Page Biography in Hindi | Google Success Story

  2. Pingback: Adidas And Puma Success Story In Hindi | Adolf & Rudolf Dassler

  3. I have to do like the dell but no way I got please help me somebody . There is somebody who listen me. Please help me for good advice like a dell . I am big fan of dell.

Leave A Reply