Boman Irani Biography In Hindi

0

Boman Irani Biography In Hindi :-

Boman Irani Biography In Hindi

Boman Irani Biography In Hindi

दोस्तों कहते हैं कि शुरुआत की कभी कोई उम्र नहीं होती, अगर सच्ची लगन और मेहनत से किसी भी काम को शुरू करते हैं तो सफलता मिलनी ही मिलनी है |

कुछ ऐसा ही दास्ताँ रहा है बॉलीवुड के जाने-माने एक्टर बोमन ईरानी की, जिनके लाइफ के ज्यादातर समय स्ट्रगल में बीते |

अभी बोमन का जन्म हुआ नहीं था तभी उनके पिता की मृत्यु हो गई |

आगे चलकर आर्थिक तंगी कुछ ऐसी आई कि बोमन ने अलग-अलग तरह के बहुत सारे काम किये | लेकिन उन्हें असली सफलता लगभग 44 साल की उम्र में जा कर मिली |

तो चलिए दोस्तों मुन्ना भाई MBBS, 3 इडियट और PK जैसी फिल्मों में अपनी एक्टिंग के जलवे बिखेर चुके बोमन ईरानी की लाइफ स्टोरी को हम शुरू से जानते हैं |


दोस्तों बोमन इरानी का जन्म 2 दिसंबर 1959 को मुंबई में हुआ था | उनके जन्म से 3 महीने पहले ही उनके पिता की मृत्यु हो चुकी थी | और इसीलिए मां-बाप दोनों की जिम्मेदारी उनकी मां ने ही उठाई |

बोमन ने अपने स्कूलिंग पुणे के सेंट मैरी स्कूल से की जहां पर वे सबसे पिछड़े बच्चों में गिने जाते थे |

दरअसल बमन बचपन में बहुत तुतलाकर बोला करते थे | उन्हें डिस्लेक्सिक नाम की बीमारी थी, जिसमें बच्चों को शब्दों को पहचानने में दिक्कत होती है और कुछ शब्दों का उच्चारण भी वे सही से नहीं कर पाते हैं |

हालांकि ट्रीटमेंट के बाद बोमन ने इस बीमारी से निजात पा लिया था,और फिर स्कूलिंग पूरी करने के बाद उन्होंने मुंबई के मीठीबाई कॉलेज से 6 महीनों का वेटर बनने के लिए कोर्स किया |

कोर्स कंप्लीट हो जाने के बाद वे ताजमहल पैलेस एंड टॉवर नाम की एक होटल में वेटर और रूम सर्विस स्टाफ के तौर पर काम करने लगे | इसके अलावा उन्होंने एक फ्रांसीसी रेस्टोरेंट में भी काम किया |

करीब 2 साल काम करने के बाद वे वापस घर आए | और अपनी पुस्तैनी बेकरी शॉप चलाने लगे…… जिस शॉप को पिता की मृत्यु के बाद उनकी मां चलाती थी |

यह बेकरी शॉप मुंबई के ग्रांट रोड इलाके में नोवेल्टी और अप्सरा सिनेमा आज के बीच में थी | और हां बमन को फिल्मों का भी खूब शौक था…. इसीलिए रहे दिनों वे पास के सिनेमाज में फिल्म देखने निकल दिया करते थे |

बमन ने करीब 32 साल की उम्र तक अपना छोटा सा बेकरी शॉप चलाया | लेकिन इस बिजनस से उनके घर का सिर्फ खर्च चल पता था |

दोस्तों अब तक बोमन ईरानी का उम्र करीब 32 साल हो चुका था लेकिन उन्होंने अपनी लाइफ में ऐसा कुछ भी नहीं किया जिससे कि लोगों में उनकी पहचान बन सके | और यह बात बोमन के दिमाग में भी खटकने लगी थी |

इसी लिए उन्होंने कुछ नया कुछ बड़ा करने का सोचा और फिर उन्होंने अपने पैशन को ध्यान में रहते हुए बेकरी शॉप के साथ साथ फोटोग्राफी करनी भी स्टार्ट कर दी |

उन्होंने 1985 में PENTAX K100 मोडल का कैमरा खरीदा जिसकी कीमत उस समय 2700 रूपये थी | और फिर वे स्कुल में जा जा कर बच्चो के क्रिकेट और फूटबाल खेलते समय के फोटो खींचते, जिसे वे 20-30 रूपये में बेच दिया करते थे |

इस तरह से आगे उन्होंने छोटे छोटे बहुत से इवेंट में भी फोटोग्राफी करनी स्टार्ट करी |

1991 में उन्होंने वर्ल्ड बाक्सिंग चैम्पियनशिप में भी फोटोग्राफी की , और इसके लिए उन्हें अच्छे खासे पैसे भी मिले |

लेकिन आपको तो पता ही एक्टिंग का सौख तो बोमन को शुरू से ही था , और एक अक्तर बनने के लिए उन्होंने 1981 SE 1983 तक एक्टिंग कोच हंसराज सिद्धिकी से ट्रेनिंग भी ली थी |

और फिर अपने सौख को पूरा करने के लिए बोमन ने बहुत सारे थियेटर शोज में भी काम करना भी शुरू किया , जिनमे से “I AM NOT A BAIRIO” नाम का शो बहुत प्रशिध हुआ था |

आगे चलकर बोमन ने फेंटा सियेट और क्रैकजैक जैसे बहुत सारे विज्ञापनों में भी काम किया |

और फिर विनोद चोपड़ा ने उनके टैलेंट को पहचाना, जिसके बाद उन्होंने बोमन को बुला कर 2 लाख का चेक देते हुए उन्हें अपनी अगली फिल्म के लिए साइन कर लिया |

बोमन इरानी पहली बार बालीवुड की फिल्म मुन्ना भाई MBBS में नजर आये , जिसे राजकुमार हिरानी ने डायरेक्ट किया था, और यह फिल्म एक डिरेक्टर के टूर पर राजकुमार की भी डेब्यू फिल्म थी और इसके प्रोडूसर थे विनोद चोपड़ा |

इस फिल्म में उनके द्वारा निमाये किरदार की लोगों ने खूब तारीफ़ की और बस यही से उन्ही सफलता शुरू हो गयी और फिर आगे भी उन्होने

मै हूँ ना , लगे रहो मुन्ना भाई , खोसला का घोसला , नो एंट्री , डॉन, और PK जैसी बहुत सारी फिल्मो में काम किया | और रूम सर्विसे , वेटर और छोटी सी बेकरी शॉप चलाने वाले इस सख्स को आज उनके एक्टिंग सभी लोग जानते पहचानते है |

दोस्तों मुझे उम्मीद है आपको भी बोमन इरानी जी के लाइफ से जरूर इंस्पिरेशन मिली होगी |

 

Boman Irani Biography In Hindi (Video):-

Share.

Leave A Reply